English | हिंदी
वृद्धाश्रमों का संचालन

लेबल की विस्तृत जानकारी

परिचय

निराश्रित वृद्धजनों के समग्र कल्याण एवं संरक्षण के लिये प्रदेश में आवश्‍यकतानुसार वृद्धाश्रमों की स्थापना को राज्य शासन द्वारा प्रोत्साहित किया जाता हैं । वृद्धाश्रमों की स्थापना के लिये सहायक अनुदान दिया जाता है। मध्यप्रदेश निराश्रितों एवं निर्धन व्यक्तियों की सहायता अधिनियम, 1970 के तहत बने नियमों में केन्द्र या राज्य विधि के अधीन गठित या रजिस्ट्रीकृत कोई न्यास/प्राधिकरण/निकाय उत्कृष्ट संस्था को वृद्वाश्रम संचालन हेतु जिला कलेक्टर की अनुशंसा के आधार पर अनुदान दिये जाने का प्रावधान है । भारत सरकार की सहायता अनुदान योजना के अन्तर्गत भी 25 वृद्धों की परियोजना हेतु 90 प्रतिशत अनुदान देने की योजना है तथा भारत सरकार की ही वृद्धाश्रम भवन निर्माण योजना हेतु 15.00 लाख रूपये का 90 प्रतिशत सहायक अनुदान दिये जाने का प्रावधान है । वर्तमान में प्रदेश में 58 वृद्धाश्रम संचालित है । इनमें से इस वर्ष में 10 नवीन वृद्वाश्रम संचालित किये गये हैं । वृद्धों की राष्ट्रीय नीति क्रियान्वयन हेतु सीनियर सिटीजन फोरम का गठन,आश्रय, शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वयंसेवी संस्थाओं की भागीदारी एवं पंचायतराज संस्थाओं की

उदेद्श

पात्रता

लाभ

प्रक्रिया

उपलब्धि के आंकड़े

नो फोटोग्राफ्स हैज़ बीन उपलादेड इन थिस स्कीम प्लीज अपलोड फोटोग्राफ्स रिलेटेड तो स्कीम

फोटो

नो फोटोग्राफ्स हैज़ बीन उपलादेड इन थिस स्कीम प्लीज अपलोड फोटोग्राफ्स रिलेटेड तो स्कीम

दस्तावेज़

क्रमांक डॉक्यूमेंट टाइप डॉक्यूमेंट टाइटल उप्लोडेड डेट व्यू डॉक्यूमेंट
1. सर्कुलर्स वरिष्‍ठ नागरिकों के लिये ''डे-केयर सेन्‍टर'' का संचालन 29/09/2014 दस्तावेज़ देखें(आकार: 387 केबी, प्रारूप: पीडीएफ, भाषा:हिंदी)